Acting Tips: ये है इंडियन क्लासिकल डांस वर्कआउट और इसके फायदे

इंडियन क्लासिकल डांस के शौकीन हैं, तो ये आपके लिए एक बेहतरीन वर्कआउट साबित होगा। ये डांस फॉर्म योग से काफी हद तक प्रभावित है। इसमें योग की मुद्राएं अपनाई जाती हैं। कथक में पैरों के मूवमेंट पर जोर दिया जाता है तो वहीं भरतनाट्यम में हाथों की मुद्राओं पर। इसके तहत कथकली, ओडिसी, भरतनाट्यम आदि आते हैं।

किस उम्र में करें-
5 साल से लेकर आप जब तक कर पाएं, क्लासिकल डांस कर सकते हैं। अगर आप लगातार करते रहेंगे, तो कितने भी साल तक करते ही रहेंगे।

कितनी कैलोरी बर्न-
कथक में 60 मिनट में 322 कैलोरी

कथकली में 60 मिनट में 380 कैलोरी

भरतनाट्यम में 60 मिनट में 240 कैलोरी

फायदे बेशुमार-
कथक से न केवल जोड़ों के दर्द का इलाज होता है, बल्कि मोटापा, बीपी, डिप्रेशन भी दूर हो सकता है।

कौन न करें-
अगर किसी के पैरों और जोड़ों में दर्द होता है या फिर किसी का वजन 80 किलो से ज्यादा है, तो न करे।
(इस लिंक (Acting Tips Video) पर क्लिक कर देखें एक्टिंग से संबंधित कई टिप्स)

NOTE- अगर आप हमारे वेब पोर्टल या उसके लिए कोई सुझाव देना चाहते हैं या फिर न्यूज देना चाहते हैं तो आप हमें मेल भी कर सकते हैं- rkztheatregroup@gmail.com और हमारा व्हाट्सएप नंबर- 08076038847 पर भी हमसे जुड़ सकते हैं। आप हमारे फेसबुक पेज और यूट्यूब चैनल को भी फॉलो कर सकते हैं।
Acting Tips: ये है इंडियन क्लासिकल डांस वर्कआउट और इसके फायदे Acting Tips: ये है इंडियन क्लासिकल डांस वर्कआउट और इसके फायदे Reviewed by Rkz Theatre Team on May 19, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.