कलर्स ला रहा है एक नया शो, नाम रखा है- 'रूप- मर्द का नया स्वरूप', ये है स्टार कास्ट और कहानी


 
 मुंबई से लौटकर संजय बनवासी कठोर, ताकतवर, हृष्‍ट-पुष्‍ट और नियंत्रण में आदर्श पुरुष का प्रतीक हैं। बस इतना ही नहीं – मर्दानगी का मतलब सच्‍चा मर्द कभी कोई कमजोरी नहीं दिखाता है, कभी एक आंसू नहीं बहाता है और संवेदनशील होने को औरत जैसा होने का संकेत मानता है।

इन दकियानूसी ख्‍यालों को चूर-चूर करने के लक्ष्‍य के साथ, कलर्स दर्शकों के लिए पेश कर रहा है रूप – मर्द का नया स्‍वरूप। 8 साल का छोटा लड़का – रूप (जिसका किरदार अफान खान ने निभाया है) एक पुरुष-प्रधान समाज की संवेदनशीलताओं पर सवाल खड़े करते हैं जो तय करती हैं कि पुरुषों और महिलाओं को कैसे बर्ताव *करना चाहिए।

रश्मि शर्मा टेलीफिल्‍म्‍स लि‍. द्वारा बनाया गया, रूप इन सदियों पुरानी दकियानूसी सोचों का बदलने की उम्‍मीद करता है, जो शुरू हो रहा है 28 मई से, सोमवार से शुक्रवार रात 9 बजे कलर्स पर! इस धारावाहिक के बारे में चर्चा करते हुए, मनीषा शर्मा, प्रोग्रामिंग हेड – कलर्स का कहना है, रूप के किरदार के बारे में सबसे खूबसूरत बात यह है कि वो तीन बहनों वाले परिवार में पैदा हुआ है। भाग्‍य से ही, उसे अपनी मां की मदद करना और अपनी बहनों के साथ खेलना बहुत पसंद है, जिसे असल दुनिया में लड़कों के लिए मुनासिब नहीं समझा जाता है।

8 साल के लड़के रूप में, रूप बहुत कन्‍फ्यूज्‍ड है कि क्‍यों सारी दुनिया लड़कियों को इंस्‍पेक्‍टर बनने के लिए, ड्राइविंग करने की इच्‍छा रखने वाली लड़कियों को आगे बढ़ाने पर तुली है, लेकिन उन लड़कों को तुच्‍छ समझती है जो होम साइन्‍स पढ़ना चाहते हैं, जिन्‍हें सिलाई करने या खाना पकाने में आनंद मिलता है। वो बहुत हक्‍का-बक्‍का है क्‍योंकि उसे पिताजी एक दरोगा हैं जो सोचते हैं कि पुरुष को बहुत मर्दाना होना चाहिए और अपनी मर्दानगी दिखाने के लिए बंदूकों के साथ खेलना चाहिए।

जैसा कि हमारे दूसरे धारावाहिक सामाजिक मसलों को छूते हैं, यह भी इस हकीकत को छुयेगा कि भलरा क्‍यों इस नई दुनिया में एक पुरुष के लिए ऐसे कामों के जरिये अपनी मर्दानगी साबित करनी चाहिए जो हमलावर और हिसंक हैं।” रश्मि शर्मा टेलीफिल्‍म्‍स से निर्माता रश्मि शर्मा का कहना था, हम यह मान तो सकते हैं कि हमारे अंदर आधुनिक सोच विकसित हो चुकी है लेकिन गहराई में, हमारे अंदर अभी भी निश्चित धारणाएं मौजूद हैं जो निर्विवादित रहती हैं।

भला क्‍यों हमारी बेटी को एक किचन सेट मिलना चाहिए जबकि बेटे एक कार से खेलते हैं? इस सोच पर दुबारा से नजर डालने की जरूरत है और रूप – मर्द का नया स्‍वरूप के साथ, हम आज के समाज में प्रचलित मानसिकता में एक पॉजीटिव बदलाव लाना चाहते हैं। अपने किरदार के बारे में चर्चा करते हुए, यश टोंक का कहना था, एक कन्‍सेप्‍ट के रूप में, ‘रूप – मर्द का नया स्‍वरूप कुछ बेजोड़ है और मेरा किरदार उसका प्रतिनिधित्‍व करता है जो हम में से अनेक लोग एक मर्द होने के गुणों के बारे में महसूस करते हैं।

एक दरोगा जो अपनी मूँछ पर गर्व करता है। शमशेर सिंह किसी को जवाब नहीं देता और मर्दानगी के एक संकेत रूप में ताकत की हिमायत करता है। लेकिन मैं इस देश के सभी मर्दों से यह समझने का अर्ज करता हूँ कि औरतों की भी मर्दों की तरह यही अहसास और अरमान होते हैं और हमें उन्‍हें समाज के बराबर से महत्‍वपूर्ण हिस्‍से के रूप में स्‍वीकार करना चाहिए। मेरा सोचना है कलर्स और रश्मि शर्मा कुछ ऐसी चीज बनाने में सफल हुए हैं जो दर्शकों के मन में एक गहरा विचार छोड़ेगी और मैं धारावाहिक के शुरु होने का इंतजार नहीं कर पा रहा हूं।

कमला का किरदार निभाने के बारे में, रूप की मां मिताली नाग का कहना था, जब समाज में मर्दों और औरतों की भूमिकाएं तय करने की बात आती है तो रूप परम्‍पराओं की बेड़ि‍यों को तोड़ती है। मेरा किरदार कमला किसी भी दूसरी औरत और बीवी की तरह है; जो अपने बच्‍चों की मां की तरह देखभाल करती है और उनके पिता की नाराजगी से उन्‍हें बचाने के लिए किसी हद तक जाने को तैयार है। मन में सोचविचार को उकसाने वाले इस कन्‍सेप्‍ट का मुझे एक हिस्‍सा बनाने के लिए, मैं चैनल और इस धारावाहिक के निर्माताओं की आभारी हूं।

आगे वैशाली ठक्‍कर उर्फ कौशल्‍या भेन का कहना था, मुझे टेलीविनज पर कई तरह के किरदार निभाने का मौका मिला है, लेकिन रूप – मर्द का नया स्‍वरूप की कहानी न केवल मनोरंजन करने वाली बल्कि शिक्षा प्रदान करने वाली भी है। मेरा किरदार एक दकियानूसी औरत का है जिसका मानना है सिर्फ लड़के ही अजूबा कर सकते हैं। लेकिन इस धारावाहिक के साथ, हम इस सोच को बदलना और अपने लड़कों का एक असली आदमी होने का एक नया मतलब सिखाना चाहते हैं। हमारे लड़के ताकतवर लेकिन फिर भी भावनात्‍मक होने चाहिए, उन्‍हें अपने लोगों की देखभाल करनी चाहिए और कुल मिलाकर दूसरे सैक्‍स का आदर करना चाहिए।

बनिये एक हिस्‍सा रूप के मौज-मस्‍ती से भरपूर, लेकिन फिर भी सोचविचार को उकसाने वाला सफर का, जो शुरु हो रहा है 28 मई 2018 को, हर सोमवार से शुक्रवार रात 9 बजे, केवल कलर्स पर! अफान खान, यश टोंग, मिताली नाग और वैशाली ठक्‍कर के साथ, रूप – मर्द का नया स्‍वरूप में मुख्‍य किरदारों के रूप में निक्‍की शर्मा (हिमानी – रूप की बहन), अनन्‍या अग्रवाल (जिगना – रूप की बहन) और ताशीन शाह (किंजल – रूप की बहन) के साथ दिग्‍गज कलाकारों की टुकड़ी देखने को मिलेगी।

रूप की ‘बेटी को बेटा बनाओ' की सोच पीछे छोड़ देने और ‘बेटे को बेटी जैसे बनाओ' की सोच को अपनाने की कोशिशें। रूप – मर्द का नया स्‍वरूप सुस्‍थापित अदाकारों की शानदार अभिनेता मंडली को एकजुट करता है जिनके किरदारों का दमदार चित्रण इस धारावाहिक को दर्शकों के लिए एक मंत्रमुग्‍ध कर लेने पेशकश बनाता है।
 (इस लिंक (Acting Tips Video) पर क्लिक कर देखें एक्टिंग से संबंधित कई टिप्स)

NOTE- अगर आप हमारे वेब पोर्टल या उसके लिए कोई सुझाव देना चाहते हैं या फिर न्यूज देना चाहते हैं तो आप हमें मेल भी कर सकते हैं- rkztheatregroup@gmail.com और हमारा व्हाट्सएप नंबर- 08076038847 पर भी हमसे जुड़ सकते हैं। आप हमारे फेसबुक पेज और यूट्यूब चैनल को भी फॉलो कर सकते हैं।
कलर्स ला रहा है एक नया शो, नाम रखा है- 'रूप- मर्द का नया स्वरूप', ये है स्टार कास्ट और कहानी कलर्स ला रहा है एक नया शो, नाम रखा है- 'रूप- मर्द का नया स्वरूप', ये है स्टार कास्ट और कहानी Reviewed by Rkz Theatre Team on May 18, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.