अगर NEET एग्जाम नहीं हुआ है पास, तो अब इस प्लान पर करें काम

हाल ही में देश में नीट एग्जाम को लेकर रिजल्ट सामने आया है। जहां कई छात्र पास हुए हैं तो कई छात्र एग्जाम क्लीयर नहीं कर पाए हैं। अगर आप भी इनमें शामिल हैं और नीट में पास नहीं हो पाएं हैं तो आपके सामने अब कई सवाल होंगे जैसे कि अब आगे क्या? क्या मेडिकल कॅरिअर का आपका सपना टूट जाएगा? अब आपके लिए कॅरिअर के कौनसे रास्ते खुले हैं?

इन सभी सवालों का जवाब आपको ऐसे बहुत से ऑप्शन्स में मिल सकता है जो बायोलॉजी से जुड़े हैं। मैनेजमेंट, डिजाइन, लैंग्वेज, इकोनॉमिक्स, होटल मैनेजमेंट, लॉ जैसे हजारों सेक्टर्स हैं जिन्हें आप एक पीसीबी के स्टूडेंट के तौर पर एक्सप्लोर कर सकते हैं और आगे का एक्शन प्लान बना सकते हैं।

बायोलॉजी और लाइफ साइंसेज के कोर्स
कई स्टूडेंट्स बायोलॉजी में अपनी दिलचस्पी के चलते पीसीबी स्ट्रीम को चुनते हैं हालांकि उनकी मेडिकल सेक्टर में जाने में ज्यादा रुचि नहीं होती है। अगर आप भी इसी श्रेणी में हैं तो नीट में सफल नहीं होने पर भी बायोलॉजी के अपने इंट्रेस्ट को जारी रख सकते हैं। बॉटनी, जूलॉजी और माइक्रोबायोलॉजी के अलावा मरीन बायोलॉजी, बायो-केमिस्ट्री और जेनेटिक्स जैसे फील्ड के दरवाजे भी आपके लिए खुले हैं।

यहां रिसर्च और डेवलपमेंट को लेकर काफी संभावनाएं हैं जहां आप कटिंग एज रिसर्च के जरिए हेल्थ सेक्टर में नए इनोवेशन से जुड़ सकते हैं। आप पीसीएमबी के स्टूडेंट हैं तो बायोलॉजी के इंटर डिसीप्लीनरी फील्ड जैसे कि बायोटेक्नोलॉजी, जेनेटिक्स इंजीनियरिंग, बायोमेडिकल इंजीनियरिंग और बायोस्टैटिस्टिक्स में भी जा सकते हैं। इन क्षेत्रों में आप पहले ग्रेजुएशन और फिर पोस्ट ग्रेजुएशन करके मजबूत कॅरिअर के लिए खुद को तैयार कर सकते हैं।

ऑल्टरनेट मेडिसिन ब्रांच
बायोलॉजी चुनने का एकमात्र टार्गेट पारंपरिक एमबीबीएस की डिग्री लेकर डॉक्टर का टैग हासिल करना नहीं होना चाहिए। नीट क्लीयर न होने पर आप मेडिसिन की आॅल्टरनेट ब्रांचेज जैसे होम्योपैथी, आयुर्वेद, यूनानी मेडिसिन के जरिए भी डॉक्टर के तौर पर प्रैक्टिस कर सकते हैं। इनके लिए नीट पास करने की जरूरत नहीं है। बीडीएस (डेंटिस्ट्री), बीएचएमएस (होम्योपैथी) और बीएएमएस (आयुर्वेद) और बीयूएमएस (यूनानी मेडिसिन) के लिए अलग-अलग एंट्रेंस होते हैं जिन्हें देकर आप इनमें अवसर तलाश सकते हैं।

अलाइड मेडिसिन
दुनियाभर में अलाइड मेडिसिन से जुड़े हजारों ऐसे सेक्टर हैं जहां आप अपना फ्यूचर बना सकते हैं। यह सेक्टर दुनियाभर के हेल्थकेयर सिस्टम की रीढ़ की हड्डी है। यहां पेशेंट केयर से लेकर डायग्नोसिस और ट्रीटमेंट में डॉक्टरों को असिस्ट करने के लिए बड़ी संख्या में प्रोफेशनल लोगों की आवश्यकता होती है। ऑप्टोमेट्री, ऑडियोलॉजी, फिजियोथैरेपी, मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी, नर्सिंग, रेडियो टेक्नोलॉजी, क्लिनिकल रिसर्च जैसे सेक्टर में अप्लाय करके आप मेडिकल लाइन से जुड़ने की अपनी इच्छा को पूरा कर सकते हैं।

हेल्थकेयर मैनेजमेंट
मेडिसिन के साथ-साथ मैनेजमेंट में भी आपकी रुचि है तो इस सेक्टर में बढ़ती डिमांड के चलते आपके लिए अपार संभावनाएं हैं। हॉस्पिटल मैनेजमेंट में आपको हॉस्पिटल सप्लाई, पर्सनल, फाइनेंस, पेशेंट केयर सर्विस के काम देखने होते हैं। इसके लिए हॉस्पिटल मैनेजमेंट और हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन दो ऐसे कोर्स हैं जिनके लिए आप अप्लाय कर सकते हैं।

इसके अलावा पब्लिक हेल्थ एडमिनिस्ट्रेशन से जुड़कर आप सरकारी हेल्थ प्रोजेक्ट के जरिए समाज के पिछड़े वर्ग की सेवा भी कर सकते हैं। पब्लिक हेल्थ एडमिनिस्ट्रेशन का कोर्स यूजी लेवल पर होता है, लेकिन हॉस्पिटल मैनेजमेंट प्रोग्राम मास्टर लेवल पर मिलते हैं जिसके लिए बायोलॉजी में ग्रेजुएट होना जरूरी है।

बायोलॉजी फील्ड एसोसिएट
फिटनेस को लेकर बढ़ती अवेयरनेस के चलते न्यूट्रिशन और फिटनेस सेक्टर में प्रोफेशनल्स की डिमांड काफी बढ़ी है। ऐसे में डायटिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट बनने के अलावा फिटनेस ट्रेनर और योगा प्रैक्टिशनर के रूप में भी काम कर सकते हैं। इसके अलावा देश की जीडीपी के सबसे बड़े सेक्टर एग्रीकल्चर से भी जुड़ सकते हैं। यहां आप हॉर्टिकल्चर, डेयरी टेक्नोलॉजी, एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग, फिशरीज साइंस, एग्रीकल्चर इकोनॉमिक्स में भी कॅरिअर बना सकते हैं। फार्मोकेमोलॉजी सेक्टर में भी जा सकते हैं।

मेंटल हेल्थकेयर

क्लिनिकल साइकोलॉजी एक ऐसा फील्ड है जो सीधे तौर पर लोगों की मानसिक सेहत और डिप्रेशन, एंजाइटी और टेंशन जैसी कई तरह की मानसिक समस्याओं से जुड़ा है। यह फील्ड भी डॉक्टरी पेशे के बेहद करीब है क्योंकि इसमें भी एक डॉक्टर की तरह लोगों की बीमारी को समझा जाता है और फिर डायग्नोज व ट्रीट किया जाता है। साइकोलॉजी काउंसलिंग के अलावा आजकल हेल्थ साइकोलॉजी, चाइल्ड साइकोलॉजी और न्यूरो-साइकोलॉजी में भी बायोलॉजी के स्टूडेंट‌स के लिए ढेरों अवसर सामने आ रहे हैं।
(इस लिंक (Acting Tips Video) पर क्लिक कर देखें एक्टिंग से संबंधित कई टिप्स)

NOTE- अगर आप हमारे वेब पोर्टल या उसके लिए कोई सुझाव देना चाहते हैं या फिर न्यूज देना चाहते हैं तो आप हमें मेल भी कर सकते हैं- rkztheatregroup@gmail.com और हमारा व्हाट्सएप नंबर- 08076038847 पर भी हमसे जुड़ सकते हैं। आप हमारे फेसबुक पेज और यूट्यूब चैनल को भी फॉलो कर सकते हैं।
अगर NEET एग्जाम नहीं हुआ है पास, तो अब इस प्लान पर करें काम अगर NEET एग्जाम नहीं हुआ है पास, तो अब इस प्लान पर करें काम Reviewed by Rkz Theatre Team on June 12, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.